Spinal Cord Injury

स्पाइनल कॉर्ड इंजरी क्या है?

रीढ़ की हड्डी में लगने वाली चोट को स्पाइनल कॉर्ड इंजरी कहते हैं। ये चोट गंभीर होती है। रीढ़ की हड्डी चार भागों में बंटी होती है। हर भाग नसों के उन समूहों की सुरक्षा करता है जो शरीर को नियंत्रित करती हैं। रीढ़ की हड्डी की चोट की गंभीरता इस बात पर निर्भर करती है कि चोट किस भाग में लगी है। रीढ़ की हड्डी द्वारा ही दिमाग शरीर के अन्य भागों तक संदेश भेजने का काम करता है। साथ ही रीढ़ की हड्डी शरीर द्वारा दिमाग तक संदेश भी भेजती है।

कितनी आम है स्पाइनल कॉर्ड इंजरी?

स्पाइनल कॉर्ड इंजरी होना कोई आम बीमारी नहीं है। कहीं गिरने या एक्सीडेंट से ऐसा हो सकता है। स्पाइनल कॉर्ड इंजरी होने के कई कारण हो सकते हैं, जैसे गठिया, कैंसर, सूजन, संक्रमण या रीढ़ की हड्डी की डिस्क का समय के साथ घिसना।

स्पाइनल कॉर्ड इंजरी के सामान्य लक्षण क्या हैं ?

स्पाइनल कॉर्ड इंजरी के सामान्य लक्षण कुछ इस तरह हैं-

  • चलने-फिरने में परेशानी
  • बेहोशी
  • हाथ-पैर को न हिला पाना
  • सिर में दर्द
  • पीठ या गर्दन में दर्द
  • सांस लेने और खांसने में परेशानी
  • गर्म-ठंडा महसूस न कर पाना या छूने पर एहसास न होना

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *